रेल कोच फैक्टरी, में हिंदी सप्ताह का शुभारंभ

कैपशन-रेल कोच फैक्टरी, में हिंदी सप्ताह के शुभारंभ का दृश्य

हुसैनपुर (समाज वीकली) (कौड़ा) -रेल कोच फैक्टरी, में ”हिंदी सप्ताह” प्रारम्भ हो गया है, जिसका शुभारंभ  “हिंदी दिवस” के अवसर पर किया गया । हिंदी  सप्ताह का आयोजन 19.09.2020 तक किया जाएगा और इस दौरान विभिन्न प्रतियोगिताएं जैसे हिंदी निबंध प्रतियोगिता, हिंदी टिप्पण व प्रारूप लेखन प्रतियोगिता तथा हिंदी वाक् प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा ।

इसके अलावा सरकारी कामकाज में राजभाषा का प्रयोग करने में कर्मचारियों की झिझक को दूर करने तथा उन्हें राजभाषा संबंधी विभिन्न नियमों की जानकारी देने के लिए एक कार्यशाला का भी आयोजन किया जाएगा । कोविड-19 संबंधी हिदायतों को ध्यान में रखते हुए इस आयोजन के दौरान शारीरिक दूरीकरण का विशेष ध्यान रखा जाएगा ।

आज  को हिंदी निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें बड़ी गिनती में प्रतियोगियों ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया। प्रतियोगिता से पहले हिंदी दिवस पर रेलमंत्री का संदेश प्रसारित किया गया ।  आज करवाई गई हिन्दी  निंबन्धो प्रतियोगिता में प्रतियोगियों ने“ कोविड 19 वैक्ष्विक महामारी के सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक प्रभाव” तथा “सावर्जनिक सेवाओं में भ्रष्टा चार समस्या  और निदान” विषय पर निबन्धम लिखे।

आर सी एफ के राज भाषा अधिकारी श्री विनोद कटोच ने बताया कि 16 सितंबर को हिंदी टिप्पण व प्रारूप लेखन प्रतियोगिता और 17 सितंबर को हिन्दी  वाक्य  प्रतियोगिता करवाई जायेगी। प्रतियोगियों को पुरस्कृपत भी किया जायेगा। हिंदी सप्ताह के आयोजन संबंधी  पोस्ट र व बैनर  तैयार करके आर सी एफ  परिसर में विभिन्न स्थानों पर पर लगाए गए हैं।  कर्मचारियों में हिन्दीे सप्ता ह को लेकर बेहद उत्साेह पाया जा रहा है।

इस अवसर पर आर सी एफ के महाप्रबंधक श्री रवीन्द्रग गुप्तान ने अपने संदेश में कहा कि केन्द्रय सरकार में कार्यरत होने के कारण हमसे यह अपेक्षा की जाती है कि हम अपना संपूर्ण सरकारी कार्य हिन्दी् में ही करें, यह हमारी डयूटी का भी अंग है। इसे सरकारी निर्देश के रूप में ना लिया जाये बल्कि अपनी व्यनक्तिगत रूचि तथा इच्छाद से प्रतिदिन अपना संपूर्ण सरकारी कार्य हिन्दी  में करने का प्रयास करें।

यह ध्यान रहे कि हिन्दी दिवस प्रत्येक वर्ष 14 सितम्बर को मनाया जाता है। 14 सितम्बर 1949 को संविधान सभा ने एक मत से यह निर्णय लिया कि हिन्दी ही भारत की राजभाषा होगी। इसी महत्वपूर्ण निर्णय के महत्व को प्रतिपादित करने तथा हिन्दी को हर क्षेत्र में प्रसारित करने के लिये राष्ट्रभाषा प्रचार समिति, वर्धा के अनुरोध पर वर्ष 1953 से पूरे भारत में 14 सितम्बर को प्रतिवर्ष हिन्दी-दिवस के रूप में मनाया जाता है।