पूछते जाति हैं और बिना पूछे लिखते हिंदू हैं

(समाज वीकली)

52% OBC को हिंदू के नाम पर ब्राह्मणों के अकाउंट मे जमा करके ओबीसी के हक अधिकार खुद भोग रहे हैं

कांग्रेस, बीजेपी के ब्राह्मणों ने मिलकर ओबीसी की जनगणना रोक रखी है। ताकि उसको मालूम नहीं हो कि उसको कितना बर्बाद किया जा चुका है

देखिए विडिओ में इंटरव्यू
अमूमन यह समझा जाता है कि देश में हिंदू तबका बहुत खुशहाल है। लेकिन यह ऐसे हिंदू हैं जिनकी आबादी मुल्क की आधी आबादी / 50% है। इसके बावजूद यह हुकूमत से नाखुश हैं. हम बात कर रहे हैं बामसेफ के नेशननल जनरल सेक्रेटरी कुमार काले साहब से आजादी के 70 सालों बाद भी आपका (ओबीसी) का सैंसस (जनगणना ) नहीं होता है

मान्यवर कुमार काले बता रहे हैं

2019 के लोकसभा चुनाव से पहले, राजनाथ सिंह होम मिनिस्टर थे और उन्होंने यह घोषित किया था कि 2021 के सैंसस मे हम बैकवर्ड क्लास कि सैंसस करेंगे। मगर यह चुनावी मसला था और ओबीसी के वोट हांसिल करने के लिए उन्होंने यह कहा था। जैसे ही लोकसभा के चुनाव हुए, अमित शाह होम मिनिस्टर बनाए गए और होम मिनिस्ट्री के दवारा दुबारा यह घोषित कर दिया गया कि हम लोग जाति के आधार पर कोई सैंसस नहीं करेंगे तो बैकवर्ड क्लास का कोई सैंसस इस साल में भी नहीं होनेवाला. आजादी के 70 साल बाद भी इस देश मे पिछडे कितने हैं, ओबीसी कितने हैं इसकी कोई जानकारी नहीं है. क्यों नहीं है यह बडा सवाल है.

आगे देखिए ओबीसी कि जाति आधारित जनगणना नहीं करके ओबीसी को कितना बर्बाद किया. डाटा सहित जानकारी दे रहे हैं

बामसेफ के नेशननल जनरल सेक्रेटरी
मान्यवर कुमार काले